all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य पार्ट 5

दोस्तो आपका फिर से स्वागत है dhaliyabhai.com पर और आज मैं आपके लिए फिर से लाया हूं all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य के आगे का अध्याय सिद्धार्थ और चैत्रा का अपने माँ पिता से मिलना पिछले अध्याय में हमें पता चला कि वो ताबीज एक चाबी है जिससे उस स्टारगेट के माध्यम से जिसकी वो चाबी होती है वो टेसा ग्रह पर जा सकता है।
अब जानते है इसके आगे की कहानी हम पढ़ेंगे तो चलिए शुरू करते है।

all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य पार्ट 5 सिद्धार्थ और चैत्रा का अपने माँ पिता से मिलना

all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य पार्ट 5
all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य पार्ट 5

सिद्धार्थ और चैत्रा वहां की खूबसूरती देखकर दंग रह जाते है वो ग्रह बहुत ही अलग था हमारी धरती के जैसा वहां पर कुछ नही था वहां की हवा भी बहुत शुद्ध थी वहां के पानी की नदियां गुलाबी रंग की थी।
आसमान भी सतरंगी था उस ग्रह पर दो सूरज एक साथ दिखाई दे रहे थे ये सब बहुत ही आश्चर्यजनक था उन दोनों के लिए।
अब जोसफ कहता है चलो मुझे तुम्हे किसी से मिलवाना है तब सिद्धार्थ ने कहा किससे?
ये तुम्हारे लिये एक सरप्राइज है तुम दोनों चलो तो सही वो दोनों उसके साथ चलने के लिए तैयार हो जाते है वो दोनों अब उस पर भरोसा करने लगते है।
जोसफ अपनी जेब से एक चाबुक निकालता और दो बार जमीन पर मारता है ऐसा वो क्यों कर रहा है ये उन दोनों को नही पता लेकिन वो दोनों ये जान चुके थे कि ये एक जादुई दुनिया है और जो भी जोसफ कररहा है उसका कुछ तो कारण होगा।
तभी वहां पर एक सवारी गाड़ी प्रकट हो जाती है उस गाड़ी के आगे एक उड़ने वाला शेर था जो उस गाड़ी को उड़ा कर ले जाते था।
उस उड़ने वाले शेर को ब्रेवर कहा जाता था।
वो दोनों उस गाड़ी में बैठे चैत्रा ने पूछा ये शेर इतना फ्रेंडली कैसे है क्या आपने इसे पाला है तब जोसफ कहता ही कि यहां पर हर किसी जिन के साथ उसके ब्रेवर का भी जन्म होता है और समय आने पर दोनो मिलते है ब्रेवर अपने साथी जिन को अपने आप ही पहचान लेता है।
टेसा ग्रह पर हर साल एक उत्सव होता है जिसका नाम the meets होता है जहाँ पर सभी जिनो और ब्रेवरो को अपना साथी चुनने के लिए छोड़ दिया जाता है।
आज वही त्यौहार the meets मनाया जा रहा है।
जिसके लिए तुम्हें भी वहां जाना है।
हमे क्यों चैत्रा ने पूछा?
क्योकि तुम दोनों भी एक जिन हो फिर जोसफ वहाँ पर पहुंच जाता है जहां पर the meets नाम का उत्सव मनाया जा रहा था।
उस जगह का नाम मेट्स था इसके बाद उस उत्सव की शुरुआत हुई।
वहाँ पर बहुत सारे ब्रेवर थे जो अपने आप ही अपने साथी के पास जा रहे थे।
सभी के ब्रेवर ने उनको चुन लिया अब एक ब्रेवर चैत्रा के पास आ गया उसने चैत्रा को चुना था।
अब बस एक ब्रेवर और सिद्धार्थ ही बचे हुए थे उसने भी सिद्धार्थ को चुन लिया और इस तरह ये उत्सव खत्म हुआ।
अब सिद्धार्थ और चैत्रा को जोसफ ने एक एक चाबुक दिया और कहा कि अब ये ब्रेवर गायब हो जाएगा और तुम इस चाबुक की मदद से अपने अपने ब्रेवर को प्रकट कर सकते हो।
थोड़ी देर में ही वो ब्रेवर गायब हो गए। तब चैत्रा बोली कि तुम हमारी मदद क्यों कर रहे हो तब जोसफ ने कहा मैं तुम्हारा mentor हूँ इसलिए मैंने तुमको ये सारी बातें बताई और मैं तुमको यहां के रूल्स के बारे में बताऊंगा की यहां पर तुमको क्या करना है और क्या नही।
सभी का अपना एक मेंटॉर होता है लेकिन मैं तुम दोनों का मेंटॉर हूँ।
अब जैसे ही तुम ये चाबुक जमीन पर मारोगे तो ये ब्रेवर आ जायेगा।
अगर तुम इसकी सवारी करना चाहते हो तो चाबुक को एक बार जमीन पर मारो और अगर तुम्हे उसके साथ सवारी गाड़ी भी चाहिए तो दो बार जमीन पर इस चाबुक को मारो।
दोनो ने एक एक बार जमीन पर उस चाबुक को मारा उन दोनों के ब्रेवर प्रकट हो गए और उन दोनों ने अपने अपने ब्रेवर की सवारी की लेकिन उनसे उस ब्रेवर पर कंट्रोल नही हो रहा था तब जोसफ ने कहा कि अपने मन को शांत रखो।
ये तुम्हारी इच्छा से ही चलेगा इसलिए अपनी सोच पर कंट्रोल करो। फिर दोनों अपने मन पर काबू कर उस ब्रेवर पर कंट्रोल कर लेते है।
तभी उनको एक ड्रेगन जो कि सोया हुआ था दिखाई देता है।
सिद्धार्थ पूछता है ये क्या है? जोसफ कहता है ये ड्रेगेवटा नाम का ड्रेगन है कहते है कि तुम्हारे एक पूर्वज ने इस पर कंट्रोल हासिल कर लिया था जो इसपर कंट्रोल पा लेता है वो इस ग्रह में देवता की तरह पूजा जाता है।
अब मैं तुमको अपने साथ एक जगह पर ले जाता हूँ मेरे पीछे आओ।
वो दोनों उसके पीछे चलते है वो उनको एक पुराने से कैसल में ले जाता है वह बहुत ही सुनसान होता है वो तीनो अपने ब्रेवर से नीचे उतरते है।
जोसफ उनको कहता है कि चलो मेरे पीछे तब वो उनके पीछे पीछे चलते है।
वहाँ पर एक पत्थर की तिजोरी के जैसे कुछ होता है।जोसफ कहता है अपना ताबीज फिर से निकालो उसके बाद सिद्धार्थ अपना ताबीज निकालता है उससे वो उस तिजोरी को खोलता है उसमें से एक हीरा बाहर की तरफ आता है।जोसफ कहता है ये हीरा उठाओ सिद्धार्थ वो उस हीरे को उठा लेता है।
इसी प्रकार चैत्रा भी अपने ताबीज की मदद से अपना हीरा उठा लेती है।
अब जोसफ कहता है कि इस हीरे को अपने ताबिज के अंदर लगाओ।
वो दोनों ऐसा ही करते है अब उनको जोसफ पर विश्वास हो चुका था।
उनके ताबीज में से एक रोशनी निकलती है और एक रोशनी चैत्रा के माता पिता और दूसरी रोशनी से सिद्धार्थ के माता पिता की छवि निकलती है।
वो दोनो फिर से असमंजस में पड़ जाते है कि उनके माता पिता जो कि मर चुके हैं वो यंहा कैसे आये।
ये ही सवाल आप लोगो के मन मे भी होगा इसका जवाब आपको इस कहानी all new fairy tales stories in hindi ताबीज एक रहस्य के अगले पार्ट में मिलेगा।
तो इंतजार कीजिये इस कहानी के अगले अध्याय में।

ये भी पढ़े……..

Fairy tails in hindi चैत्रा और सिद्धार्थ की पहली मुलाकात ताबीज एक रहस्य पार्ट 2

New fairy tales hindi चैत्रा और सिद्धार्थ की दोस्ती ताबीज एक रहस्य पार्ट3

Jadui ताबीज का रहस्य पार्ट 4 new fairy tales hindi me

Fairy tales in hindi kahani | all new fairy tales stories in hindi इच्छाधारी नाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *